Aangan

Children are like flowers, tender, beautiful and pure. Vibrant colourful flowers make a garden beautiful and complete. Aangan would like to look as beautiful as a garden, with the holistic development of the children. The vow of Aangan is to make the children overcome their shortcomings and become firmly confident and self reliant.

HOW AANGAN WORKS?

The children are taught with –

  • Hindi, English, Mathematics and Computer applications.
  • Social norms, dramatics, signing, dance and painting.
  • Tailoring, stitching, embroidery, candle making, paper bag making.
  • Recitation of slokas from the Holy Bhagavad Gita.
  • To instill the feelings of camaraderie, fraternity and brotherhood.

Details of our Volunteer –

Adarsh Jaiswal

Ph. No. – 9681728812

बच्चे फूल की तरह कोमल, सुंदर और निर्मल होते हैं। जैसे बगीचा रंग बिरंगी फूलों से सार्थक दिखता है। वैसे ही आंगन में बच्चों के खेल से पढ़ाई और उनका सर्वांगीण विकास में जुटा है। आंगन करीबन गत कई सालों बच्चों के विकास में जुटा है।
आंगन का उद्देश्य है कि बच्चों की कमजोरियों को दूर कर उनका आत्मविश्वास बढ़ाना ।

आंगन कार्य पद्धति –

  • बच्चों को हिन्दी, गणित, अंग्रेजी, संस्कृति के साथ ही कम्प्यूटर सीखाया जाता है
  • नाटक, गीत, नृत्य और चित्रांकन की शिक्षा
  • गीता वह श्लोक पाठ
  • सेवा भाव की शिक्षा जिसके तहत लोगों की मदद करना और उनके साथ समय बिताना

About Us

“WE THINK FOR NOT SO PRIVILEGED CLASSES “

Contact Us

B - 7/287, Kalyani
District : Nadia
Pincode : 741235

Copyright 2021 © eknayikiransourya  | Design and Developed by Zauca

Open chat